Andhra Bank
Facebook Twitter

टोल फ्री नंबर: 1800 425 1515

banner
 
दो पहियों के लिए वाहन ऋण
 
 योजना का स्‍वरूप

  • दो पहियों और चौ पहियों के वाहन ऋण
 
 पात्रता

  • कोई भी व्‍यक्ति,  जिसका वार्षिक सकल आय चौ पहियों के ऋण के लिए Rs 1.00 लाख और दु पहिये ऋणों के लिए Rs60,000/- हो 

 
सड़क मूल्‍य राशि पर मार्जिन

ऋणकर्ता की श्रेणी

मार्जिन

वेतन श्रेणी और जहॉं वेतन से सीधी कटौती उपलब्‍ध है

15%

एस एम ई/ कार्पोरेट ऋणकर्ता जो मानक आस्ति श्रेणी के अंतर्गत हैं और जिनका क्रेडिट रेटिंग बी या अधिक है

15%

अन्‍य ऋणकर्ता

20%

 
 ऋण राशि

नया वाहन:

  • 2 पहियों के लिए : सड़क मूल्‍य का  85%  (जिसमें बीजक मूल्‍य, लाइफ कर, पंजीकरण प्रभार, बीमा और आनुषंगिकी प्रभार सम्मिलित हैं)  वेतन श्रेणी/ एस एम ई/ कार्पोरेट ऋणकर्ता जो मानक आस्ति श्रेणी के अंतर्गत हैं और जिनका क्रेडिट रेटिंग B या अधिक है और अन्‍य ऋणकर्ताओं के लिए 80% या Rs60,000/-, जो भी कम हो.
  • पुरानी बिक्री : (3 साल से अधिक पुरानी नहीं होने हैं): गैरेज मूल्‍य का 60% याRs 5,00,000 /- जो भी कम हो.
अनुषंगी :  चौ पहियों के लिए Rs5,000/- से ज्‍यादा नहीं और दु पहियों के लिए Rs1,000/- से ज्‍यादा नहीं
 
 पुनभुगतान

दो पहियों के लिए – न्‍यूनतम 12 महीने और अधिकतम 60 महीने  (ई एम आई)
 
 सह बाध्यहता

दो पहिये और चौ पहिये दोनों के लिए बैंक को मान्‍य तृतीय पक्षकार
 
 प्रतिभूति


खरीदे गये वाहन का दृष्टिबंधन द्वारा

 
प्रलेख

वैध चालक लाइसेंस
आय निर्धारण :- वेतन पर्ची/ आयकर रिटर्न/कर निर्धारण आदेश, बीजक प्रोफार्मा
पुरानी गाडि़यों के लिए प्रतिष्ठित गैरेज द्वारा मूल्‍य निर्धारण प्रमाण पत्र  
 
chiclogo