Andhra Bank
Facebook Twitter

टोल फ्री नंबर: 1800 425 1515

faqs
 
आम सवाल
 
 bulate कार्पोरेट » कार्पोरेट ऋण विभाग
greypt

bullet संसाधन प्रभार और प्रारंभिक शुल्कट में क्याो अंतर है?
bullet टीईवी अध्यभयन क्या है और इसकी आवश्यंकता कब होती है?
bullet क्या आन्ध्रा बैंक भी टीईवी अध्यंयन करता है?
bullet प्रधान कार्यालय के तकनीकी मूल्यांकन कक्ष (टीएसी) के अन्य कार्य क्या हैं?
bullet परियोजना समूहन कक्ष के कार्य क्या हैं?
bullet आन्ध्रा बैंक द्वारा प्रदत्त कार्यशील पूंजी वित्त की अवधि क्या है ?
bullet परियोजना आधारित मीयादी ऋण के ब्या्ज दर विकल्प क्या हैं ?
bullet परियोजना मीयादी ऋण की अवधि किस प्रकार होती है?
bullet क्या प्राप्य किराए के प्रति कोई अग्रिम दी जाती है?
bullet वायदा संविदाएं बुक करने के क्या लाभ हैं?
 

मध्य एवं बृहत कार्पोरेट विभागों से संबंधित आम सवाल

 
  bullet संसाधन प्रभार और प्रारंभिक शुल्क में क्या अंतर है?
greypt
निधि आधारित कार्यशील पूंजी सीमा और गैर-निधि आधारित कार्यशील पूंजी सीमा के लिए संसाधन प्रभार वसूल किए जाते हैं।  इनका भुगतान नई मंजूरी/नवीकरण/सीमा के संवर्धन के समय किया जाना है।  सामान्‍यत:, कार्यशील पूंजी सीमा की मंजूरी एक वर्ष की अवधि के लिए की जाती है।  अत:, संसाधन प्रभार की वसूली वर्ष में एक बार अर्थात् समीक्षा/नवीकरण/सीमा के संवर्धन के समय किया जाता है।  मीयादी ऋण के मामले में प्रारंभिक शुल्‍क की वसूली की जाती है और इसका भुगतान केवल एक बार अर्थात् सीमा के संवितरण से पहले किया जाना चाहिए।

 

 
  bulate टीईवी अध्ययन क्या है और इसकी आवश्यकता कब होती है?
greypt
टीईवी का तात्‍पर्य है तकनीकी-आर्थिक व्‍यवहार्यता अध्‍ययन और वर्तमान दिशा-निर्देशों के अनुसार, नई परियोजनाओं के लिए `10.00 करोड़ एवं अधिक के मीयादी ऋण प्रस्‍तावों पर विचार किए जाने के मामले में, आवश्‍यकता होने पर बाहरी एजेंसियों से मूल्‍यांकन प्राप्‍त किया जा सकता है। 
 
  bulate क्या आन्ध्रा बैंक भी टीईवी अध्ययन करता है?
greypt
जी हाँ, आन्‍ध्रा बैंक भी टीईवी अध्‍ययन करता है।  यह प्रधान कार्यालय में कार्पोरेट एवं औद्योगिक वित्‍त विभाग के अधीन तकनीकी मूल्‍यांकन कक्ष द्वारा किया जाता है।
 
  bulate प्रधान कार्यालय के तकनीकी मूल्यांकन कक्ष (टीएसी) के अन्य कार्य क्या हैं?
greypt
तकनीकी मूल्‍यांकन कक्ष प्रधान कार्यालय के कार्पोरेट एवं औद्योगिक वित्‍त विभाग का भाग है।  यह विद्यमान तथा नए उधारकर्ताओंके लिए शुल्‍क पर सूचना ज्ञापन तैयार करता है।  फिलहाल प्रभारित सूचक शुल्‍क सेवा कर सहित मीयादी ऋण घटक के 0.25% पर है।  तथापि, यह मामले पर आधारित है।

 

 
  bulate परियोजना समूहन कक्ष के कार्य क्या हैं?
greypt
परियोजना समूहन कक्ष, प्रधान कार्यालय के बृहत कार्पोरेट विभाग के अधीन कार्य कर रहा है।  यह कक्ष, सडक परियोजना, उर्वरक संयत्र, ऊर्जा परियोजना आदि के ऋण समूहन से संबंधित कार्य कर रहा है।  समूहन शुल्‍क मामले पर आधारित है। 
 
  bulate आन्ध्रा बैंक द्वारा प्रदत्तण कार्यशील पूंजी वित्त की अवधि क्या् है ?
greypt
सामान्‍यत: कार्यशील पूंजी वित्‍त एक वर्ष तक की अवधि के लिए विभिन्‍न सुविधाओं के लिए 'सीमा' के रूप में प्रदान किया जाता है।  2% अतिरिक्‍त ब्‍याज पर तीन माह की अवधि के लिए 'तदर्थ' आवश्‍यकताओं पर भी विचार किया जाता है।
 
  bulate परियोजना आधारित मीयादी ऋण के ब्याज दर विकल्प क्या हैं ?
greypt

बैंक नियत और अस्थिर दर दोनों विकल्‍पों पर मीयादी ऋण देता है, जो परियोजना तथा पवर्तक के जोखिम बोध पर आधारित है।  कीमत सामान्‍यत: बैंक के आधार दर से संबद्ध है।

 
  bulate परियोजना मीयादी ऋण की अवधि किस प्रकार होती है?
greypt

परियोजना वित्‍त की परिकल्‍पना दीर्धावधि ऋण के रूप में की गई है, जिसकी अवधि सामान्‍यत: 5 से 10 वर्ष है।  परिपक्‍वता अवधि और चुकौती प्रकार की परिकल्‍पना प्रत्‍येक परियोजना और उद्योग के विशिष्‍ट पेहलु के अनुरूप उद्यम द्वारा स्थिर राजस्‍व प्रवाह का सृजन किए जाने के समयसीमा के लेनदारी लेखाक्रम में की गई है।
 
  bulate क्या प्राप्य किराए के प्रति कोई अग्रिम दी जाती है?
greypt
जी हाँ।  व्‍यक्ति, स्‍वामित्‍व, साझेदारी, पब्लिक लिमिटेड कंपनी, प्राइवेट लिमि‍टेड कंपनी तथा हमारी शाखा परिसर के मालिकों सहित संपत्ति के स्‍वामित्‍व वाले न्‍यासों को प्राप्‍त किराए पर अग्रिम दिए जाते हैं।  भारमुक्‍त, स्‍वामि के पक्ष में निर्बाध और बेचने योग्‍य स्‍वत्‍वविलेख युक्‍त रिहायशी/ वाणिज्यिक संपत्तियां पात्र संपत्तियों में शामिल हैं।
 
  bulate वायदा संविदाएं बुक करने के क्या लाभ हैं?
greypt

  1. वायदा संविदा ऐसा तंत्र है जिसके माध्‍यम से भविष्‍य की तारीख में विदेशी मुद्रा के क्रय या विक्रय के लिए विनिमय दर अग्रिम रूप से नियत किया जाता है।
  2. वायदा संविदा का प्रयोग विदेशी मुद्रा लेनदेन में विनिमय उतार-चढ़ाव से उत्‍पन्‍न भविष्‍य के जोखिम से बचने हेतु किया जाता है।
  3. वायदा संविदा बुक करने से निर्यातकर्ता अपने सामान्‍य के निर्यात से प्राप्‍त होने वाली राशि का देशी मुद्रा में निधारण कर सकता है।  इसी प्रकार, आयातकर्ता द्वारा आयात की लागत देशी मुद्रा में निर्धारित की जा सकती है।
  4. इसी प्रकार, इससे देनदार/लेनदार विनिमय दर में उतार-चढ़ाव (जैसे विदेशी मुद्रा ऋण) से उत्‍पन्‍न जोखिम से बचने में स‍हायता मिलती है।

 

 
.......................................................................................................................................... Top
 
chiclogo